निवेशक के फंड
फंड SIP
Mirae Asset Large cap ₹1500
P Parikh Flexi cap Fund ₹2500

Mutual Fund: म्यूचुअल फंड में करना चाहते हैं निवेश, जानें Flexi Cap और Multi Cap फंड्स में कौन है बेहतर?

By: ABP Live | Updated at : 23 Jun 2022 04:59 PM (IST)

Flexi Cap & Multi Cap Funds: शेयर बाजार ( Stock Market) में इन दिनों उठापटक देखने को मिल रही है. लेकिन जो निवेशक म्यूचुअल फंड ( Mutual Fund) में निवेश करना चाहते हैं और अगर वे दुविधा में हैं कि वे फ्लेक्सी कैप ( Flexi Cap) में निवेश करें या फिर मल्टी कैप ( Multi Cap) में तो आज आपको बतायेंगे दोनों तरह के फंड में क्या फर्क है. फ्लेक्सी कैप को सबसे बेहतर माना जाता है क्योंकि इसमें फंड मैनेजर के पास विकल्प होता है कि वो लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप में जहां चाहे अलॉकेशन को शिफ्ट कर सकता है. जबकि मल्टी कैप अपने कुल कार्पस का 25 फीसदी हिस्सा लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप में निवेश करना होता है.

हालांकि मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है फ्लेक्सी कैप की भी कुछ सीमाएं हैं. अगल फ्लेक्सी कैप का 10,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का कॉर्पस (Corpus) हो जाता है तो फंड मैनेजर के लिए बेहतर अवसर तलाशना मुश्किल हो जाता है. क्योंकि स्मॉल कैप में 10 से 15 फीसदी का अलॉकेशन बहुत ज्यादा होता है. ऐसे में वहीं मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है फ्लेक्सी कैप बेहतर होते हैं जिनका एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) छोटा होता है.

Flexi कैप और मल्टीकैप फंड में क्या फर्क है? कहां मिलेगा ज्यादा रिटर्न मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है और कम रिस्क, जानिए एक्सपर्ट की राय

Flexi कैप और मल्टीकैप फंड में क्या फर्क है? कहां मिलेगा ज्यादा रिटर्न और कम रिस्क, जानिए एक्सपर्ट की राय

निवेश के परंपरागत साधनों पर रिटर्न कम मिल रहा है, जिसके कारण निवेशकों का क्रेज घट रहा है. इस समय निवेशक म्यूचुअल फंड (Mutual funds) पर ज्यादा फोकस कर रहे हैं, क्योंकि यहां रिटर्न ज्यादा मिलता है. फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स का कहना है कि युवा और मिलेनियल्स म्यूचुअल फंड में निवेश (Mutual fund investment) करना ज्यादा पसंद करते हैं. वे विशेष रूप से इक्विटी म्यूचुअल फंड (Equity mutual funds) को चुनते हैं, क्योंकि इसमें रिटर्न ज्यादा है, हालांकि रिस्क भी ज्यादा होता है. ऐसे में इक्विटी फंड के भीतर भी डायवर्सिफिकेशन जरूरी है जिससे रिस्क कम होगा. Koppr के को-फाउंडर और सीईओ मंडार मराठे का कहना है कि निवेशकों को हमेशा लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए.

Money Guru: फ्लेक्सी कैप या मल्टी कैप फंड है बेहतर? एक्सपर्ट से जानें फर्क और क्या हैं फायदे

Money Guru: आप अगर फ्लेक्सी कैप फंड या मल्टी कैप फंड में से कोई चुनाव कर रहे हैं तो इसको समझना जरूरी है कि आखिर पैसा किसमें लगाया जाए?

Flexi Cap fund बाजार के उतार-चढ़ाव में जोखिम कम करता है.

Money Guru: म्यूचुअल फंड (mutual funds) निवेश का एक बेहतर विकल्प है.लेकिन जब बात निवेश की आती है तो इसमें फंड का चुनाव काफी मायने रखता है. आप अगर फ्लेक्सी कैप फंड (Flexi Cap fund) या मल्टी कैप फंड (Multi Cap Fund) में से कोई चुनाव कर रहे हैं तो इसको समझना जरूरी है कि आखिर पैसा किसमें लगाया जाए? कौन फंड ज्यादा बेहतर साबित होंगे. इनमें क्या अंतर है? मल्टी कैप से मुनाफा कैसा मिलेगा? आइए, इस मुद्दे पर हम यहां हम फौजी इनिशिएटिव के सीईओ कर्नल संजीव गोविला(रिटायर्ड) से समझ लेते हैं.

Flexi कैप और मल्टीकैप फंड में क्या फर्क है, कहां मिलेगा ज्यादा रिटर्न और कम रिस्क

फ्लेक्सी कैप में कम से कम 65 फीसदी इक्विटी में निवेश करना होता है. मल्टीकैप में कम से 75 फीसदी इक्विटी में निवेश करना होता है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। निवेश मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है के परंपरागत साधनों पर रिटर्न कम मिल रहा है, जिसके कारण निवेशकों का क्रेज घट रहा है. इस समय निवेशक म्यूचुअल फंड (Mutual funds) पर ज्यादा फोकस कर रहे हैं, क्योंकि यहां रिटर्न ज्यादा मिलता मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है है. फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स का कहना है कि युवा और मिलेनियल्स म्यूचुअल फंड में निवेश (Mutual fund investment) करना ज्यादा पसंद करते हैं. वे विशेष रूप से मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है इक्विटी म्यूचुअल फंड (Equity mutual funds) को चुनते हैं, क्योंकि इसमें रिटर्न ज्यादा है, हालांकि रिस्क भी ज्यादा होता है. ऐसे में इक्विटी फंड के भीतर भी डायवर्सिफिकेशन जरूरी है जिससे रिस्क कम होगा. Koppr के को-फाउंडर और सीईओ मंडार मराठे का कहना है कि निवेशकों को हमेशा लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए.

Flexi Cap Funds Kya Hai और यह Multi Cap Funds से कितना अलग है? जानें अंतर और विशेषताएं

Flexi Cap Funds Kya Hai और यह Multi Cap Funds से कितना अलग है? जानें अंतर और विशेषताएं

Flexi Cap Funds in Hindi: फ्लेक्सी-कैप म्यूचुअल फंड (Flexi Cap Fund), इक्विटी म्यूचुअल फंड की सबसे नई कैटेगरी है। तो अगर आप समझना चाहते है कि Flexi Cap Funds Kya Hai? (What is Flexi Cap Funds in Hindi) और इनकी विशेषताएं क्या मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है है? (Features of Flexi Cap Funds in Hindi) तो लेख के साथ अंत तक बने रहे।

Flexi Cap Funds in Hindi: फ्लेक्सी-कैप म्यूचुअल फंड, इक्विटी म्यूचुअल फंड की सबसे नई कैटेगरी है। फ्लेक्सी-कैप फंड एक ओपन-एंडेड इक्विटी स्कीम है जो बाजार पूंजीकरण में कंपनियों के विभिन्न शेयरों में निवेश करती हैं, चाहे वह मिड-कैप, लार्ज-कैप या स्मॉल-कैप हो। इनकी प्रवित्ति Multi Cap Funds जैसी लगती है लेकिन यह अलग होते है। लेकिन यह मल्टी कैप फंड से कितना अलग है यह जानने के लिए पहले आपको जानना होगा कि Flexi Cap Funds Kya Hai? (What is Flexi Cap Funds in Hindi) और इनकी विशेषताएं क्या है? (Features of Flexi Cap Funds in Hindi) मल्टी कैप और फ्लेक्सी कैप फंड्स में क्या अंतर है तो चलिए फ्लेक्सी कैप फंड के बारे में समझते है।

रेटिंग: 4.61
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 617