Foreign exchange reserves declined by more than one billion dollars

India Forex Reserves: विदेशी मुद्रा कोष में गिरावट पर ब्रेक, 6.5 अरब डॉलर के बड़े इजाफे के साथ 531 अरब डॉलर हुआ भंडार

RBI Data: एक ही हफ्ते में विदेशी मुद्रा भंडार में बड़ा इजाफा देखने को मिला है और ये बढ़कर 531 अरब डॉलर के लेवल पर जा पहुंचा है.

By: ABP Live | Updated at : 04 Nov 2022 08:16 PM (IST)

प्रतिकात्मक फोटो ( Image Source : Getty )

India Forex Reserves: भारत के लिए राहत की खबर है. विदेशी मुंद्रा भंडार (India Forex Reserves) में लगातार जारी गिरावट पर अब ब्रेक लग गया है और अब विदेशी मुद्रा भंडार में बढ़ोतरी आई है. आरबीआई ( Reserve Bank Of India) के मुताबिक 28 अक्टूबर 2022 को खत्म हुए हफ्ते में विदेशी मुद्रा भंडार में 6.561 अरब डॉलर का इजाफा देखने को मिला है और ये बढ़कर 531.081 अरब डॉलर पर जा पहुंचा है. इससे पहले हफ्ते में विदेशी मुद्रा भंडार 3.847 अरब डॉलर घटकर 524.52 अरब डॉलर तक जा गिरा था.

आरबीआई ( RBI) द्वारा जारी किए गए डाटा के मुताबिक 28 अक्टूबर, 2022 को खत्म हफ्ते के बाद विदेशी मुद्रा भंडार में बड़ा उछाल देखने को मिला है और ये एक साल में सबसे बड़ी बढ़ोतरी है. विदेशी मुद्रा भंडार 6.5 अरब डॉलर से ज्यादा इजाफे के साथ 531.081 अरब डॉलर रहा है. विदेशी करेंसी एसेट्स जो कुल रिजर्व का प्रमुख हिस्सा माना जाता है वो 5.772 अरब डॉलर बढ़कर 470.847 अरब डॉलर रहा है. बीते साल अक्टूबर 2021 में विदेशी मुद्रा भंडार अब तक के उच्चतम स्तर पर 645 अरब डॉलर पर जा पहुंचा था. लेकिन इसके बाद से विदेशी निवेशकों की बिकवाली, महंगे आयात और रूस यूक्रेन युद्ध के बाद से लगातार विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट देखने को मिली थी.

दरअसल डॉलर के मुकाबले रुपये को गिरने से बचाने के लिए आरबीआई को दखल देते हुए डॉलर बेचना पड़ा है इसके चलते भी रुपया विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आई है. हालांकि जानकार का मानना है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व महंगाई पर नकेस कसने के लिए ब्याज दरें बढ़ाता रहा है जो डॉलर इससे मजबूत होता जाएगा. विदेशी निवेशक बिकवाली करते रहेंगे जिससे विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आ सकती है. कई जानकारों का मानना है कि विदेशी मुद्रा भंडार घटकर 510 अरब डॉलर तक गिर सकता है.

इससे पहले रुपये में आज शानदार मजबूती देखने को मिली है. रुपये एक डॉलर के मुकाबले विदेशी मुद्रा भंडार में क्यों आई गिरावट 46 पैसे मजबूत होकर 82.43 रुपये पर क्लोज हुआ है. गुरुवार को रुपया 82.89 पर क्लोज हुआ था.

News Reels

ये भी पढ़ें

Published at : 04 Nov 2022 06:33 PM (IST) Tags: Federal Reserve Rupee - Dollar RBI Data Foreign Currency Reserves India Forex Reserves हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

India Forex Reserves: रुपये को गिरने से थामने की कोशिशों में विदेशी मुद्रा विदेशी मुद्रा भंडार में क्यों आई गिरावट भंडार में आई बड़ी गिरावट, जानें डिटेल्स

RBI Data: इसी हफ्ते रुपया एक डॉलर के मुकाबले 83 रुपये के नीचे जा लुढ़का था. जानकारों का मानना है कि रुपया 85 के लेवल तक गिर सकता है. रुपये को थामने के लिए आरबीआई को डॉलर बेचना पड़ रहा है.

By: ABP Live | Updated at : 21 Oct 2022 07:35 PM (IST)

प्रतिकात्मक फोटो ( Image Source : Getty )

India Forex Reserves: रूपये (Rupee) में जारी गिरावट को थामने के लिए आरबीआई ( RBI) को बार बार डॉलर बेचना पड़ रहा है जिसके चलते भारत के विदेशी मुद्रा भंडार ( Foreign Currency Reserves) में बड़ी गिरावट आई है. 14 अक्टूबर, 2022 को खत्म हफ्ते पर विदेशी मुद्रा भंडार कई वर्षों के निचले स्तरों पर जा गिरा है. आरबीआई ने जो आंकड़ा जारी किया है उसके मुताबिक विदेशी मुद्रा भंडार घटकर 528.37 अरब डॉलर रह गया है.

भारतीय रिजर्व बैंक के विदेशी मुद्रा भंडार में क्यों आई गिरावट मुताबिक 14 अक्टूबर, 2022 को खत्म हफ्ते में विदेशी मुद्रा भंडार में 4.50 अरब डॉलर की गिरावट आई है और ये घटकर 528.37 अरब डॉलर पर आ गया है. इससे पहले 7 अक्टूबर को खत्म हफ्ते में विदेशी मुद्रा भंडार में 10 हफ्तों में पहली बार बढ़ोतरी देखने को मिली थी. बीते वर्ष 3 सितंबर 2021 को विदेशी मुद्रा भंडार 642.453 अरब विदेशी मुद्रा भंडार में क्यों आई गिरावट डॉलर था. जो इस वर्ष मार्च में घटकर 607 अरब डॉलर रह गया था और अब 114.08 अरब डॉलर घटकर 528 अरब डॉलर रह गया है.

विदेशी करेंसी एसेट्स 2.83 अरब डॉलर घटकर 468.67 रह गया है. तो गोल्ड रिजर्व में भी गिरावट आई है और ये 1.50 अरब डॉलर घटकर 37.45 अरब डॉलर का रह गया है. दरअसल डॉलर के मुकाबले रुपये में बड़ी गिरावट देखने को मिली. रुपया गिरकर 83.35 के लेवल तक जा गिरा. रुपये को डॉलर के मुकाबले गिरने से बचाने के लिए आरबीआई अब तक 114 अरब डॉलर अपने विदेशी मुद्रा भंडार से बेच चुका है.

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के मुताबिक चालू खाते का घाटा 4 फीसदी रहा तो विदेशी मुद्रा भंडार घटकर 510 अरब डॉलर के लेवल तक गिर सकता है. हालांकि आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास कह चुके हैं कि बाजार में उतार चढ़ाव के बावजूद विदेशी मुद्रा भंडार बेहतर रहा है. उन्होंने कहा कि बाजार के हालात को देखते हुए आरबीआई लगातार दखल देता रहा है.

News Reels

Published at : 21 Oct 2022 07:05 PM (IST) Tags: RBI Rupee - Dollar Foreign Currency Reserves India Forex Reserves हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Foreign Currency Reserve: फिर हुई विदेशी मुद्रा भंडार में कमी, जानें कितना रह गया

अपने विदेशी मुद्रा भंडार (Foreign Currency Asset) में एक बार फिर से कमी आई है। चार नवंबर 2022 को समाप्त विदेशी मुद्रा भंडार में क्यों आई गिरावट सप्ताह में यह 1.09 अरब डॉलर घटकर 529.99 अरब डॉलर रह गया। इसका कारण स्वर्ण भंडार (Gold Reserve) में आई भारी गिरावट है।

विदेशी मुद्रा भंडार में एक अरब डॉलर से भी ज्यादा की गिरावट

Foreign exchange reserves declined by more than one billion dollars

हाइलाइट्स

  • देश के विदेशी मुद्रा भंडार में फिर कमी आई है
  • चार नवंबर 2022 को समाप्त सप्ताह में यह 1.09 अरब डॉलर घटकर 529.99 अरब डॉलर रह गया
  • इसका कारण स्वर्ण भंडार में आई भारी गिरावट है

क्यों आ रही है विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट
देश के मुद्रा भंडार में गिरावट आने का मुख्य कारण यह है कि वैश्विक घटनाक्रमों की वजह से रुपये की गिरावट को थामने के लिए केन्द्रीय बैंक मुद्रा भंडार से मदद ले रहा है। खुले बाजार में भी रुपये की कीमत थामने के लिए डॉलर की बिक्री करनी पड़ रही है। इसी वजह से डॉलर का भंडार कम हो रहा है।

एफसीए में भी कमी
रिजर्व बैंक द्वारा शुक्रवार को जारी साप्ताहिक आंकड़ों के अनुसार, चार नवंबर को समाप्त सप्ताह के दौरान मुद्रा भंडार का महत्वपूर्ण घटक मानी जाने वाली, विदेशी मुद्रा आस्तियां (FCA) 12 करोड़ डॉलर घटकर 470.73 अरब डॉलर रह गयीं। डॉलर में अभिव्यक्त किये जाने वाली विदेशी मुद्रा आस्तियों में मुद्रा भंडार में रखे यूरो, पौंड और जापानी येन जैसे गैर डॉलर मुद्रा के मूल्य में आई कमी या बढ़त के प्रभावों को दर्शाया जाता है।

स्वर्ण भंडार और एसडीआर में भी कमी
आंकड़ों के अनुसार, मूल्य के संदर्भ में देश का स्वर्ण भंडार 70.5 करोड़ डॉलर घटकर 37.057 अरब डॉलर रह गया। केंद्रीय बैंक ने कहा कि विशेष आहरण अधिकार (SDR) 23.5 करोड़ डॉलर घटकर 17.39 अरब डॉलर रह गया है।

आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन सप्ताह में, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) में रखा देश का मुद्राभंडार भी 2.7 करोड़ डॉलर घटकर 4.82 अरब डॉलर रह गया।

रुपया रसातल में, अब विदेशी मुद्रा भंडार ने बढ़ाई टेंशन, 4.50 करोड़ डॉलर की बड़ी गिरावट

अमेरिकी मुद्रा की तुलना में रुपया शुक्रवार को चार पैसे की तेजी के साथ 82.75 प्रति डॉलर (अस्थायी) पर बंद हुआ। रुपये में शुरू में गिरावट आई थी लेकिन घरेलू शेयर बाजार में तेजी के साथ यह बढ़त में बंद हुआ।

रुपया रसातल में, अब विदेशी मुद्रा भंडार ने बढ़ाई टेंशन, 4.50 करोड़ डॉलर की बड़ी गिरावट

भारतीय करेंसी रुपया में हर दिन नई गिरावट आ रही है। इस गिरावट के बीच अब देश का विदेशी मुद्रा भंडार 14 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह में 4.50 करोड़ डॉलर घटकर 528.37 अरब डॉलर पर आ गया। इससे पहले, सात अक्टूबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 20.4 करोड़ डॉलर बढ़कर 532.868 अरब डॉलर पर पहुंच गया था।

इसमें इस साल अगस्त के बाद से पहली बार किसी साप्ताह में वृद्धि हुई थी। बता दें कि एक साल पहले अक्टूबर 2021 में देश का विदेश मुद्रा भंडार 645 अरब डॉलर के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया था।

लगातार आ रही गिरावट: देश का विदेशी मुद्रा भंडार पिछले कई हफ्तों से लगातार कम हो रही है। दरअसल, तेजी से बदलते वैश्विक परिदृश्य में डॉलर के मुकाबले तेजी से गिरते रुपये को संभालने के लिए आरबीआई ने इस विदेशी मुद्रा भंडार के एक हिस्से का इस्तेमाल किया है।

आंकड़ों के अनुसार, 14 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा आस्तियां (एफसीए) 2.828 अरब डॉलर घटकर 468.668 अरब डॉलर रह गयीं। एफसीए असल में समग्र भंडार का एक प्रमुख हिस्सा होता है। डॉलर के संदर्भ में एफसीए में विदेशी मुद्रा भंडार में रखे गए यूरो, पाउंड और येन जैसी गैर-अमेरिकी मुद्राओं में मूल्य वृद्धि या मूल्यह्रास का प्रभाव शामिल होता है।

स्वर्ण भंडार के मूल्य में सात अक्टूबर को समाप्त सप्ताह के दौरान 1.35 अरब डॉलर की वृद्धि हुई थी। जबकि 14 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह में यह 1.502 अरब डॉलर की गिरावट के साथ 37.453 अरब डॉलर रह गया।

रुपया का हाल: बता दें कि अमेरिकी मुद्रा की तुलना में रुपया शुक्रवार को चार पैसे की तेजी के साथ 82.75 प्रति डॉलर (अस्थायी) पर बंद हुआ। रुपये में शुरू में गिरावट आई थी लेकिन घरेलू शेयर बाजार में तेजी के साथ यह बढ़त में बंद हुआ।

रेटिंग: 4.21
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 132