6+ Best Trading App in India 2022 – सबसे अच्छा शेयर मार्केट एप्प

Top Best Mobile Trading App in India – क्या आप मोबाइल से लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पैसे कमाने वाले एप्प और Share Market में शेयर खरीदने के लिए एक Best Trading App ठूँठ रहे हो, तो आज हम आपके लिए लेकर आये हैं 6 ऐसे Trading App जिनकी मदद से आप घर बैठकर मोबाइल से trading कर सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं.

जिन एप्लीकेशन के बारे में हम आपको अपने लेख में बताने वाले हैं उनमें से कुछ एप्लीकेशन के बारे में आपने सुना होगा लेकिन कुछ ऐसी भी एप्लीकेशन होंगीं जिनके बारे में आपको अधिक पता नहीं होगा.

शेयर मार्किट में निवेश करने वाले लोगों के लिए Trading App बहुत Important है. क्योकिं ट्रेडिंग एप्प की मदद से निवेशक सही ट्रेड की जानकारी लेने के लिए करते हैं ताकि वह अपने ट्रेड में मुनाफा हासिल कर सके.

तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं Top Trading App in India विस्तार से.

Top Best Investment Trading App (सबसे अच्छा ट्रेडिंग एप्प) stock, mutual fund, ipo, digital gold , share market app,

Best Trading App के बारे में जानने से पहले यह जान लेना भी आवश्यक है कि आखिर ये Trading App क्या है.

फीचर आर्टिकल: भारत और 130 देशों का लोकप्रिय FTT प्लेटफार्म है बिनोमो, ट्रेडिंग के साथ प्राप्त करे आकर्षक बोनस और ढेरों शानदार पुरस्कार

भारत में FTT प्लेटफार्म के बीच बिनोमो ने अपनी अलग पहचान बनाई है। इस ग्लोबल प्लेटफार्म पर लोगों का भरोसा दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। बिनोमो के एपीएसी मैनेजिंग डायरेक्टर डेविड क्लार्क बता रहे हैं कि आखिर किस प्रकार यह प्लेटफार्म दूसरे प्लेटफार्म से अलग है और कैसे यह ज्यादा सुविधाजनक और सुरक्षित है। इसके साथ ही ट्रेडर्स इस पर ट्रेडिंग के साथ ही अन्य पुरस्कार भी प्राप्त कर सकते हैं।

1. बिनोमो भारत में लोकप्रिय FTT प्लेटफार्म है और कई ट्रेडर्स खुद को बिनोमिस्ट कहते हैं। इस प्लेटफार्म की लोकप्रियता का क्या राज़ है?
बिनोमो निश्चित रूप से भारत में एक लोकप्रिय FTT प्लेटफार्म है लेकिन इसका पीला और काला बिनोमो लोगो भारत के अलावा 130 देशों में भी पहचाना जाता है। इस प्लेटफार्म पर ट्रेडर्स गोल्ड, कमोडिटी, करेंसी पेयर्स, ओटीसी और अन्य एसेट में ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं। बिनोमो हर किसी के लिए एक सुविधाजनक प्लेटफार्म है, चाहे वे निवेश की शुरुआत करने वाले लोग हों या फिर प्रोफेशनल्स। यह मॉडर्न और हाई-टेक प्लेटफार्म होने के साथ ही काफी आसान है।

भारतीय निवेशक महज 5 डॉलर से निवेश शुरू कर सकते हैं और ट्रेड ओपनिंग 1 डॉलर से शुरू होती है। साथ ही इसमें सभी ट्रेडर्स के लिए ढेरों इनाम हैं। बिनोमों में ट्रेडिंग, डिपॉजिट और विड्रॉल के लिए कोई फीस चार्ज नहीं की जाती। बिनोमो एप की सहायता से आप कहीं भी कभी भी ट्रेड कर सकते हैं। इसे गूगल प्ले या एप स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। कोई कठिनाई होने लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर www.binomo.com पर जाकर APK वर्जन डाउनलोड कर सकते हैं।

2. आजकल ऑनलाइन ट्रेडिंग में धोखाधड़ी का जोखिम होता है, ट्रेडर्स बिनोमो पर कैसे भरोसा लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म कर सकते हैं?
बिनोमो को 2018 से इंटरनेशनल फाइनेंशियल कमीशन (IFC) रेगुलेट कर रही है और इसके पास “A” मेंबर का स्टेटस है। IFC सर्टिफिकेट ट्रेडर्स के साथ रिलेशन में पारदर्शिता की पुष्टि करता है। इसके अलावा इस Verify My Trade के ट्रेड क्वालिटी सर्टिफिकेट द्वारा प्लेटफार्म की सिक्योरिटी की गारंटी दी गई है।

3. एफटीटी प्लेटफार्म क्या होते हैं? इसमें पारंपरिक इक्विटी ट्रेडिंग से क्या अलग है?
एफटीटी का अर्थ होता है फिक्स्ड टाइम ट्रेडिंग। एफटीटी ट्रेडर्स के बीच में काफी लोकप्रिय है क्योंकि इसमें ट्रेड एक्सपायरेशन टाइम काफी कम होता है। आप सही पूर्वानुमान के साथ एक मिनट में अतिरिक्त कमाई कर सकते हैं। लेकिन पारंपरिक इक्विटी ट्रेडिंग में ऐसी कोई लिमिट नहीं होती।

4. बिनोमो बोनस प्रोग्राम क्या है?

  • बिनोमो अपने क्लाइंट्स को आकर्षक और लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म अनूठे बोनस ऑफर करता है जो उन्हें किसी दूसरे प्लेटफार्म पर नहीं मिलते। बिनोमो पर रजिस्ट्रेशन के बाद प्रत्येक यूजर को एक वैलकम बोनस मिलता है। यह 30 मिनट तक उपलब्ध रहता है और आपको अपना पहला डिपॉजिट 25% तक बढ़ाने का मौका मिलता है।
  • डिपॉजिट बोनस आपके निवेश को स्टैंडर्ड लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म अकाउंट में 100% तक, गोल्ड अकाउंट में 150% तक और वीआईपी अकाउंट में 200% बढ़ा सकता है। इसके अलावा भी बिनोमो के स्टैंडर्ड, गोल्ड और वीआईपी अकाउंट होल्डर्स को कई तरह के ऑफर, बोनस और इनाम हैं।

5. किसी ट्रेडर को बिनोमो प्लेटफार्म क्यों चुनना चाहिए?
इसके मुख्य रूप से 3 कारण हैं

  • बिनोमो आपको निशुल्क मार्केट और ट्रेडिंग संबंधी जानकारी देता है। आप मार्केट एनालिसिस या इंडिकेटर के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले विभिन्न टूल का इस्तेमाल और कब क्या रणनीति अपनानी चाहिए इस बारे में सीख सकते हैं।
  • यदि आप हासिल की गई जानकारी का उपयोग सही तरीके से और समझदारी पूर्वक करते हैं तो बिनोमो पर ट्रेडिंग करके आप अपने वित्तीय लक्ष्यों को हासिल करने और सपनों को सच बनाने में सफल हो सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप वित्तीय जोखिमों को समझें और अपने कौशल का सही उपयोग करें।
  • बिनोमो के साथ जुड़कर आप बिनोमिस्ट के विशाल समुदाय के मेंबर बन सकते हैं। ये वे लोग हैं जो अपने वित्तीय लक्ष्यों को हासिल करने के लिए आगे बढ़ने से नहीं हिचकते। आप महत्वाकांक्षी लक्ष्य तय करना और उन्हें हासिल करना भी सीखेंगे।

ज्ञान और जानकारी के साथ ही एनालिसिस और प्रैक्टिस के बिना प्रभावी ट्रेडिंग संभव नहीं है। तो अगर आप भी एफटीटी प्लेटफार्म पर ट्रेडिंग के साथ अतिरिक्त आमदनी अर्जित करना चाहते हैं यानी कि बिनोमिस्ट बनना चाहते हैं तो आज ही बिनोमो का एप डाउनलोड करें या www.binomo.com पर जाकर अधिक जानकारी हासिल करें।

डिस्क्लेमर: अगर आप रिस्क उठाने के लिए सक्षम नहीं हैं तो कमोडिटी या दूसरे वित्तीय साधनों में ट्रेडिंग न करें। यह सलाह दी जाती है कि आप उस पैसे का निवेश न करें जिसे आप खोने का जोखिम नहीं उठा सकते।

भारत के दिग्गज क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स | What are some of the crypto trading platforms in India

भारत के दिग्गज क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 2018 में भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रतिबंध को हटा दिया था। यह भारतीय निवेशकों खासकर डिजिटल रूप से कुशल लोगों के लिए स्वागत योग्य कदम था। क्रिप्टो बाजार में निवेश और व्यापार में व्यस्त भारतीयों के साथ साथ क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और बिटकॉइन एक्सचेंजों की बढ़ती संख्या इस बात की गवाही देती है।

बिनेंस एक्सचेंज को दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो प्लेटफॉर्म माना जाता है, लेकिन भारत में भी कुछ लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म हैं।

  • वज़ीरएक्स एक भारतीय बिटकॉइन और क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज है जहां आप इथीरियम, रिप्पल, लिटकॉइन और बिटकॉइन में ट्रेडिंग कर सकते हैं। हालांकि इसके लिए आपको स्पॉट प्लेटफॉर्म पर 0.2% चार्ज देना होगा। वज़ीरएक्स के दावों की मानें तो इसकी प्रमुख विशेषताओं में शामिल है इसका इस्तेमाल करना आसान है, लेन-देन तेजी के साथ होता है और विश्वस्तरीय सुरक्षा इंतजाम है। वज़ीरएक्स पी2पी ट्रांजैक्शन की भी सुविधा प्रदान करता है।
    भारत में शीर्ष क्रिप्टो एक्सचेंजों में शामिल है, खासकर नौसिखिये लोगों के लिए। आप इसके ग्राहकों के अनुकूल प्लेटफॉर्म पर तत्काल लेनदेन के माध्यम से अपना क्रिप्टो पोर्टफोलियो बना सकते हैं। विशेषज्ञ ट्रेडर कॉइन डीसीएक्स का उपयोग सिंगल एक्सेस के माध्यम से और बहुत कम स्प्रेड के साथ कर सकते हैं। उपयोगकर्ता 0.1% ट्रेडिंग शुल्क देकर 250 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी में इसके स्पॉट ट्रेडिंग, मार्जिन और फ्यूचर प्लेटफॉर्म पर खरीद और बिक्री कर सकते हैं। आप इसकी विकेन्द्रीकृत उधार सेवा में भी निवेश कर सकते हैं। का उपयोग 15 लाख से अधिक लोग करते हैं और यह भारत में सबसे पुराने क्रिप्टो एक्सचेंज प्लेटफॉर्म में से एक है। यह ऑफलाइन डेटा स्टोरेज और टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन के साथ सुरक्षा का भरोसा देता है। यूपीआई और बैंक हस्तांतरण की भी अनुमति है। हालांकि, बिटकॉइन ट्रेडिंग चार्ज 0.7% वसूला जाता है जो कि काफी अधिक है।
    नौसिखियों के लिए एक अन्य लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म है। यह ग्रेड-ए सुरक्षा का दावा करता है और ऑफ़लाइन कोल्ड स्टोरेज में 95% स्टोरेज के अभ्यास का पालन करता है। बिटबन्स बिटकॉइन बेचने और लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म खरीदने के लिए यूपीआई और बैंकिंग हस्तांतरण की सुविधा देता है और साथ ही पी2पी जमा भी स्वीकार करता है। इसका ट्रेडिंग शुल्क 0.03% से 0.25% तक है। क्रिप्टोकरेंसी को सुरक्षित रूप से भेजने और प्राप्त करने के लिए एक क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म है जो कि वॉलेट सेवा भी लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है। यह 2014 से क्रिप्टोकरेंसी बाजार में है और इसने 30 लाख से अधिक ग्राहकों को सेवा प्रदान की है। एक अतिरिक्त सुरक्षा सुविधा के रूप में ज़ेबपे में आउटगोइंग लेनदेन को अक्षम करने की सुविधा है। बनाने वाले पर ट्रेडिंग शुल्क 0.15%, लेने वाले पर 0.25% लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और इंट्राडे पर 0.1% है।

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 2018 में भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रतिबंध को हटा दिया था। यह भारतीय निवेशकों खासकर डिजिटल रूप से कुशल लोगों के लिए स्वागत योग्य कदम था। क्रिप्टो बाजार में निवेश और व्यापार में व्यस्त भारतीयों के साथ साथ क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और बिटकॉइन एक्सचेंजों की बढ़ती संख्या इस बात की गवाही देती है।

बिनेंस एक्सचेंज को दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो प्लेटफॉर्म माना जाता है, लेकिन भारत में भी कुछ लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म हैं।

भारत के दिग्गज क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स | What are some of the crypto trading platforms in India

भारत के दिग्गज क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 2018 में भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रतिबंध को हटा दिया था। यह भारतीय निवेशकों खासकर डिजिटल रूप से कुशल लोगों के लिए स्वागत योग्य कदम था। क्रिप्टो बाजार में निवेश और व्यापार में व्यस्त भारतीयों के साथ साथ क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और बिटकॉइन एक्सचेंजों की बढ़ती संख्या इस बात की गवाही देती है।

बिनेंस एक्सचेंज को दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो प्लेटफॉर्म माना जाता है, लेकिन भारत में भी कुछ लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म हैं।

  • वज़ीरएक्स एक भारतीय बिटकॉइन और क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज है जहां आप इथीरियम, रिप्पल, लिटकॉइन और बिटकॉइन में ट्रेडिंग कर सकते हैं। हालांकि इसके लिए आपको स्पॉट प्लेटफॉर्म पर 0.2% चार्ज देना होगा। वज़ीरएक्स के दावों की मानें तो इसकी प्रमुख विशेषताओं में शामिल है इसका इस्तेमाल करना आसान है, लेन-देन तेजी के साथ होता है और विश्वस्तरीय सुरक्षा इंतजाम है। वज़ीरएक्स पी2पी ट्रांजैक्शन की भी सुविधा प्रदान करता है।
    भारत में शीर्ष क्रिप्टो एक्सचेंजों में शामिल है, खासकर नौसिखिये लोगों के लिए। आप इसके ग्राहकों के अनुकूल प्लेटफॉर्म पर तत्काल लेनदेन के माध्यम से अपना क्रिप्टो पोर्टफोलियो बना सकते हैं। विशेषज्ञ ट्रेडर कॉइन डीसीएक्स का लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म उपयोग सिंगल एक्सेस के माध्यम से और बहुत कम स्प्रेड के साथ कर सकते हैं। उपयोगकर्ता 0.1% ट्रेडिंग शुल्क देकर 250 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी में इसके स्पॉट ट्रेडिंग, मार्जिन और फ्यूचर प्लेटफॉर्म पर खरीद और बिक्री कर सकते हैं। आप इसकी विकेन्द्रीकृत उधार सेवा में भी निवेश कर सकते हैं। का उपयोग 15 लाख से अधिक लोग करते हैं और यह भारत में सबसे पुराने क्रिप्टो एक्सचेंज प्लेटफॉर्म में से एक है। यह ऑफलाइन डेटा स्टोरेज और टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन के साथ सुरक्षा का भरोसा देता है। यूपीआई और बैंक हस्तांतरण की भी अनुमति है। हालांकि, बिटकॉइन ट्रेडिंग चार्ज 0.7% वसूला जाता है जो कि काफी अधिक है।
    नौसिखियों के लिए एक अन्य लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म है। यह ग्रेड-ए सुरक्षा का दावा करता है और लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ऑफ़लाइन कोल्ड स्टोरेज में 95% स्टोरेज के अभ्यास का पालन करता है। बिटबन्स बिटकॉइन बेचने और खरीदने के लिए यूपीआई और बैंकिंग हस्तांतरण की सुविधा देता है और साथ ही पी2पी जमा भी स्वीकार करता है। इसका ट्रेडिंग शुल्क 0.03% से 0.25% तक है। क्रिप्टोकरेंसी को सुरक्षित रूप से भेजने और प्राप्त करने के लिए एक क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म है जो कि वॉलेट सेवा भी प्रदान करता है। यह 2014 से क्रिप्टोकरेंसी बाजार में है और इसने 30 लाख से अधिक ग्राहकों को सेवा प्रदान की है। एक अतिरिक्त सुरक्षा सुविधा के रूप में ज़ेबपे में आउटगोइंग लेनदेन को अक्षम करने की सुविधा है। बनाने वाले पर ट्रेडिंग शुल्क 0.15%, लेने वाले पर 0.25% और इंट्राडे पर 0.1% है।

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 2018 में भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रतिबंध को हटा दिया था। यह भारतीय निवेशकों खासकर डिजिटल रूप से कुशल लोगों के लिए स्वागत योग्य कदम था। क्रिप्टो बाजार में निवेश और व्यापार में व्यस्त भारतीयों के साथ साथ क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और बिटकॉइन एक्सचेंजों की बढ़ती संख्या इस बात की गवाही देती है।

बिनेंस एक्सचेंज को दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो प्लेटफॉर्म माना जाता है, लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म लेकिन भारत में भी कुछ लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म हैं।

ब्रोकिंग फर्म eToro ने खरीदा ऑप्शंस ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Gatsby

इजरायल में हेडक्वार्टर रखने वाली eToro ने एक फिनटेक फर्म के तौर पर शुरुआत की थी और बाद में इसने क्रिप्टो सर्विसेज शुरू की थी

ब्रोकिंग फर्म eToro ने खरीदा ऑप्शंस ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Gatsby

Gatsby बिना कमीशन वाला एक ऑप्शंस और स्टॉक ट्रेडिंग ऐप है

खास बातें

  • डील के तहत Gatsby की टीम eToro में शामिल हो जाएगी
  • पिछले कुछ वर्षों में अमेरिका में क्रिप्टोकरेंसीज की ट्रेडिंग बढ़ी है
  • eToro ने अमेरिका में एक्सपैंशन करने की योजना बनाई है

ऑनलाइन ब्रोकिंग सर्विस देने वाली eToro ने अमेरिका में अपना कारोबार बढ़ाने के लिए ऑप्शंस ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Gatsby को एक्वायर किया है. यह डील कैश और स्टॉक में लगभग 5 करोड़ डॉलर की है. इजरायल में हेडक्वार्टर रखने वाली eToro ने एक फिनटेक फर्म के तौर पर शुरुआत की थी और बाद में इसने क्रिप्टो सर्विसेज शुरू की थी.

Gatsby बिना कमीशन वाला एक ऑप्शंस और स्टॉक ट्रेडिंग ऐप है. Block ने इसके को-फाउंडर Ryan Belanger के हवाले से कहा, "हम एक बड़ी फर्म के साथ जुड़ना चाहते थे. हम इस डील को लेकर उत्साहित हैं." डील के तहत Gatsby की टीम eToro में शामिल हो जाएगी. Gatsby के यूजर्स को लिस्टेड कंपनियों के स्टॉक्स और ऑप्शंस और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ETF) की बिना किसी कमीशन के ट्रेडिंग करने की सुविधा मिलती है. फर्म ने पिछले वर्ष एक करोड़ डॉलर का फंड हासिल किया था. इसके इनवेस्टर्स में बारक्लेज बैंक, टेकस्टार वेंचर्स और बीटा ब्रिज कैपिटल शामिल हैं.

पिछले कुछ वर्षों में अमेरिका में क्रिप्टोकरेंसीज की ट्रेडिंग तेजी से बढ़ी है. इसी वजह से eToro ने अमेरिका में एक्सपैंशन करने की योजना बनाई है. डेलॉयट की ओर से जून में कराए गए एक सर्वे से पता चला था कि अमेरिका में 75 प्रतिशत से अधिक रिटेलर्स स्टेबलकॉइन्स को पेमेंट के एक विकल्प के तौर पर शुरू करने में दिलचस्पी रखते हैं. स्टेबलकॉइन्स ऐसी क्रिप्टोकरेंसीज होते हैं जो अपने मार्केट प्राइस को गोल्ड या सामान्य करेंसीज जैसे किसी रिजर्व एसेट से जोड़ने की कोशिश करते हैं. ये ऐसी डिजिटल ट्रांजैक्शंस के लिए अधिक इस्तेमाल होते हैं जिनमें वर्चुअल एसेट्स को वास्तविक एसेट्स में कन्वर्ट करना शामिल होता है. USD Coin, Tether और Binance USD कुछ लोकप्रिय स्टेबलकॉइन्स हैं, जो अमेरिकी डॉलर से जुड़े हैं. क्रिप्टो का तेजी से बढ़ता वर्जन स्टेबलकॉइन एक्सचेंज के प्रमुख माध्यम के तौर पर उभरा है. इसका इस्तेमाल अक्सर ट्रेडर्स की ओर से फंड भेजने के लिए किया जाता है.

अमेरिका के दो राज्य क्रिप्टोकरेंसी में टैक्स लेने की योजना पर आगे बढ़ रहे हैं. Colorado और Utah में रेवेन्यू डिपार्टमेंट्स ने लोगों और फर्मों को Bitcoin और Ethereum जैसी क्रिप्टोकरेंसीज में टैक्स का भुगतान करने की सुविधा देने का फैसला किया है. हालांकि, इसके लिए इन राज्यों को कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. क्रिप्टोकरेंसीज में बिकवाली होने से ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट की वैल्यू पिछले वर्ष नवंबर में लगभग 3 लाख करोड़ डॉलर के हाई लेवल से घटकर 1 लाख करोड़ डॉलर से कुछ अधिक पर है. मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की वैल्यू में नवंबर के बाद से 60 प्रतिशत की कमी हुई है.

रेटिंग: 4.91
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 701