चर्चा पैनल में बेलारूसी विपक्षी नेता स्वियातलाना सिखानौस्काया ने भी भाग लिया, स्ज़िजार्तो ने कहा कि यूरोपीय संघ की विदेश नीति टूलबॉक्स ने इसी तरह के संकटों में सीमित सफलता साबित की है।

पीटर स्ज़िजार्तो एथेंस

Name already in use

A tag already exists with the provided branch name. Many Git commands accept both tag and branch names, so creating this branch may cause unexpected behavior. Are you sure you want to create this branch?

  • Go to file T
  • Go to line L
  • Copy path
  • Copy permalink

This commit does not belong to any branch on this repository, and may belong to a fork outside of the repository.

  • Open with Desktop
  • View raw
  • Copy raw contents Copy raw contents

Copy raw contents

Copy raw contents

This file contains bidirectional Unicode text that may be interpreted or compiled differently than what appears below. To review, open दोहरी विनिमय दरों की सीमाएँ the file in an editor that reveals hidden Unicode characters. Learn more about bidirectional Unicode characters

Footer

© 2022 GitHub, Inc.

You can’t perform that action at this time.

You signed in with another tab or window. Reload to refresh your session. You signed out in another tab or window. Reload to refresh your session.

Recommended Content

Page 1 :
अर्थशास्त्र कक्षा 10वीं, अध्याय - 3, मुद्रा व साख, , , , याद रखने योग्य बातें :, 1., दोहरी विनिमय दरों की सीमाएँ डे., , 10., , वस्तुओं के बदले वस्तुओं का लेन-देन वस्तु विनिमय प्रणाली कहलाता है।, मुद्रा के आविष्कार से वस्तु विनिमय प्रणाली की सबसे बड़ी कठिनाई, “आवश्यकताओं का दोहरा संयोग” का समाधान संभव हुआ।, , जब एक व्यक्ति किसी चीज को बेचने की इच्छा रखता हो, वही वस्तु, दूसरा व्यक्ति भी खरीदने की इच्छा रखता हो अर्थात्‌ मुद्रा का उपयोग, किये बिना, तो उसे आवश्यकताओं का दोहरा संयोग कहा जाता है।, कागजी मुद्रा, कागज के उपयोग से बने विभिन्‍न प्रकार के अंकित मूल्य, के नोटों से है।, , सोना, चाँदी, निकल, ताँबा आदि किसी भी धातु के उपयोग से बनी मुद्रा, को धात्विक मुद्रा कहते हैं।, , विनिमय प्रक्रिया में मध्यस्थता का कार्य करने के कारण, मुद्रा को विनिमय, का माध्यम कहा दोहरी विनिमय दरों की सीमाएँ जाता है।, , मुद्रा विनियम के माध्यम के रूप में तभी मान्य होती है जब उस देश की, सरकार उसे इस कार्य के लिए प्राधिकृत करती है व कानूनी मान्यता प्रदान, करती है।, , भारत में रिर्जव बैंक ऑफ दोहरी विनिमय दरों की सीमाएँ इंडिया केन्द्रीय सरकार की ओर से विभिन्‍न, मूल्यों के करेंसी नोट जारी करता है।, , उधार देने या निवेश करने के ध्येय से जनता से माँगने दोहरी विनिमय दरों की सीमाएँ पर या चैक आदि, के माध्यम से राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय जमाएँ स्वीकार करने को बैंकिंग, कहते हैं।, , बैंक, सहकारी समितियाँ आदि ऋण के औपचारिक म्रोत हैं।, , , , , , 185

रेटिंग: 4.88
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 206