इसके बाद आपको कंपनी समय समय पर विभिन्न जानकारियां प्रदान करती है। आपको कंपनी के वित्तीय विवरण मिलते है, कंपनी के मीटिंग के नोटिस मिलते है, लाभांश मिलता है और कंपनी जब भी कोई नया इश्यू लेकर आती है तो आपको उसमें प्राथमिकता मिलती है यहां तक कि कभी कभी कंपनी बाय बैक भी स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है करती है जिसमें आपको बहुत अच्छी कीमत मिलती है। क्योंकि कंपनी के वास्तविक स्वामी उसके अंशधारक ही होते है।

Trading in Hindi | ट्रेडिंग कैसे सीखें | ट्रेडिंग कितने प्रकार के होते हैं?

Trading क्या होती है और कैसे की जाती है? अगर आपके मन में भी सवाल है तो आपको आज बहुत मज़ा आने वाला है क्योंकि आज हम ट्रेडिंग से जुड़ी सभी जानकारी आपके साथ शेयर करने वाले हैं। हम जानेंगे कैसे दुनिया में लोग मात्र एक दिन में ट्रेडिंग से हज़ारों रूपये कमा लेते हैं और आप ऐसा कैसे कर सकते हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया के 100 सबसे अमीर आदमियों की लिस्ट में 2 ट्रेडर भी शामिल है जिन्होंने अपनी ट्रेडिंग कला के बल पर बेशुमार दौलत इकट्ठा की है। हालाँकि ऐसे भी लाखों उदाहरण हैं जहाँ ट्रेडिंग ने लोगो को डुबो दिया । ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि उन्होंने ट्रेडिंग साइकोलॉजी से स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है जुड़ी किताबें नहीं पढ़ी थी।

मार्किट लोगों के मूड से चलता है और अगर आपको पब्लिक के मन का नहीं पता तो आप एक सफल ट्रेडर नहीं बन पाओगे इसलिए पहले शेयर मार्किट की बेस्ट किताबें पढ़कर ज्ञान अर्जित करें और उसके बाद ही ट्रेडिंग करना शुरू करें।

Trading मीनिंग इन हिंदी

आसान हिंदी भाषा में ट्रेडिंग का मतलब होता है ‘व्यापर’ या ‘लेनदेन’। अब व्यापार तो वैसे किसी भी चीज़ का हो सकता है लेकिन क्योंकि हम यहाँ शेयर मार्किट की बात कर रहे हैं तो यहाँ ट्रेडिंग का मतलब है शेयर खरीदने और बेचने की प्रक्रिया।

जब आप किसी कंपनी के शेयर को कम दाम पर खरीदते हैं और कुछ मिनट, घंटे, या दिनों बाद उस शेयर की कीमत बढ़ जाने के बाद ज़्यादा दाम पर बेचते हैं तो इसी को हम सफल ट्रेडिंग कहते हैं। एक ट्रेडर को सफल तभी कहा जा सकता है जब वह कोई भी शेयर मुनाफे के साथ बेचे अन्यथा अपना नुकसान तो वे लोग भी करते हैं जिन्हे ट्रेडिंग का T भी स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है नहीं पता।

Trading meaning in hindi

ट्रेडिंग कितने प्रकार के होते हैं?

अब जैसा की हमने आपसे ट्रेडिंग की परिभाषा में कहा की आप किसी शेयर को कुछ मिनटों से लेकर हफ्ते भर तक होल्ड कर सकते है। उसी समय अवधि के अनुसार ट्रेडिंग को मुख्य रूप से दो प्रकार में विभाजित किया गया है:

इंट्राडे ट्रेडिंग(Intraday Trading):

इंट्राडे का हिंदी में मतलब है ‘दिन के अंदर’। जब आप किसी शेयर को एक ही दिन में खरीदते और मार्किट बंद होने से पहले बेच देते हैं तो उस प्रकार की ट्रेडिंग को इंट्राडे ट्रेडिंग कहा जाता है। इसमें आपको सुबह मार्किट खुलते ही पोजीशन बनानी होती है क्योंकि अच्छे मौके सुबह ही मिलते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग का ही एक और टाइप होता है जिसे हम कहते है स्कल्पिंग(Scalping) जिसमे मार्किट खुलने के एक घंटे के अंदर ही शेयर का खरीदना और बेचना दोनों हो जाता है।

स्विंग ट्रेडिंग(Swing Trading)

स्विंग का हिंदी में मतलब होता है ‘झूलना’ और ट्रेडिंग जगत में भी इसका मतलब होता है किसी शेयर को एक से ज़्यादा ट्रेडिंग सेशन तक पकड़ के रखना और कुछ दिन या हफ़्तों बाद बेचना। हम ऐसा कह सकते है कि आपको एक शेयर लेकर कुछ दिनों या हफ़्तों तक झूलना है और जब उसकी कीमत आपके मुताबिक बढ़ जाये तो उसे बेच देना है। अब क्योंकि स्विंग Trading में हम एक दिन से ज़्यादा शेयर को होल्ड करते हैं इसे हम डिलीवरी(Delivery) ट्रेडिंग भी कहते है।

ट्रेडिंग कैसे सीखें? How to Learn Trading in Hindi?

ट्रेडिंग एक ऐसी चीज़ है जो आपको एक दिन में नहीं आएगी। इसके लिए आपको रोज़ पढ़ना पड़ेगा। जिस प्रकार अच्छी किताबें और अच्छे लोग तुरंत समझ में नहीं आते उन्हें पढ़ना पड़ता है। वैसे ही ट्रेडिंग का ज्ञान लेने के लिए आपको टेक्निकल एनालिसिस और Trading Psychology से जुड़ी किताबों को पढ़ना पड़ेगा तब जाकर कुछ बात बनेगी।

इसके बाद भी सिर्फ पढ़ने से काम नहीं चलेगा। आपको मार्किट का रुख देखकर अपनी खुद की स्ट्रेटेजी बनानी पड़ेगी और जिस शेयर में ट्रेडिंग करने की सोच रहे हैं उसके कैंडलस्टिक चार्ट को देखकर उसका तकनिकी विश्लेषण करना होगा। इसके बाद ही आपको पता चल पायेगा कि वो शेयर ऊपर जायेगा या नहीं।

मार्किट से बड़ा गुरु कोई नहीं है इसलिए अगर आप Trading सीखना चाहते हैं तो लाइव ट्रेडिंग सेशन के दौरान किसी भी स्टॉक को पकड़ लें जिसके प्राइस में तेजी से बदलाव हो रहे हो। उस शेयर के पीछे के पैटर्न को देखकर आने वाले पैटर्न का अंदाज़ा लगाएं और खुद का टेस्ट करें।

डिलीवरी ट्रेडिंग क्या है ?

अगर मैं शेयर मार्केट की बात करूं तो शेयर मार्केट एक बाजार की तरह है जहां पर आप पैसे देते हैं और एक सिक्योरिटी खरीदते हैं यह अलग-अलग तरह की हो सकती है जैसे कि इक्विटी शेयर, प्रेफरेंस शेयर, बांड, डिबेंचर आदि।

शेयर मार्केट का मुख्य कार्य निवेशकों को कंपनी के अंदर पैसा लगाने के लिए आमंत्रित करना है जिससे कंपनी उस पैसे का प्रयोग अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए कर सके और उसके पश्चात जो भी लाभ होते हैं उनको अपने अंश धारकों के साथ बांट सके।

डिलीवरी ट्रेडिंग क्या है ?

मुझे इस बात पर बड़ा आश्चर्य होता है कि शेयर मार्केट के बारे में बाजार में बहुत सारी भ्रांतियां प्रचलित है और अधिकतर लोग शेयर मार्केट को सट्टे की तरह लेते हैं क्योंकि वह शेयरों ट्रेडरों के जाल में फंस जाते हैं और एक ट्रेडर हमेशा आपको ऐसी सलाह देगा जिसके द्वारा ब्रोकर का फायदा हो।

इंट्राडे और डिलीवरी ट्रेडिंग में क्या अंतर है?

शेयर बाजार में 1 दिन केलिए ट्रेडिंग करते है तो उसको इंट्राडे ट्रेडिंग कहते है। इसमें आपको शेयर को एक ही दिन में 9:15 AM से 3:30 PM तक खरीद बिक्री करना होता है। इसमें केबल ट्रेडिंग कर सकते है । मगर आपको लंबी अबधि केलिए निवेश केलिए शेयर की डिजिटल फॉरमेट के जरिए डिलीवरी लेनी होती है। इसमें आपको शेयर को डिजिटल फॉरमेट में खरीद के T +2 दिनों में आपके CDSL / NSDL एकाउंट में शेयर जमा होता है । इंट्राडे ट्रेडिंग में आपको बहोत ज्यादा ब्रोकेज़ ( प्रति आर्डर ₹20/- ) का शुल्क देना होता है। मगर शेयर की डिलीवरी में ब्रोकेज़ बहोत कम लगता है। इंट्राडे ट्रेडिंग में आपको > 30% ज्यादा इनकम टैक्स भरना होता है। मगर डिलीवरी ट्रेडिंग / निवेश में आपको ( 10 % से 15 % ) तक की इनकम टैक्स लगता है। इंट्राडे ट्रेडिंग शेयर बाजार के अनुभवी लोगों करना चाहिए । अगर आप शेयर में नए हो तो आपको डिलीवरी ट्रेडिंग / निवेश करना चाहिए।

ट्रेडिंग करने केलिए सबसे अच्छी ट्रेडिंग कंपनी कौन सी है?

बाजार में बहोत सारे ऐप है जो कि ऑप्शन ट्रेडिंग देते है मगर सबमें अलग ब्रोकेज चार्ज और मार्जिन के नियम अलग अलग है । इस लिए आपको बहोत सावधानी से अपना ब्रोकर चुने । में आपको कुछ ब्रोकर की सलाह देसकता है ।

1. जेरोधा सेकुरिट्स
2. ऐंजल ब्रोकिंग
3. मोतीलाल ओसबल सेकुरिट्स
4. IIFL सेकुरिट्स
5. उप स्टॉक

Best Swing Trading Stocks For the Week March 2022

Best Swing Trading Stocks For the Week March 2022

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है, कि आज के समय में हर कोई स्टॉक मार्किट से पैसा कमाना चाहता है, पर हम अधिकांश ये देखते है कि लोग ये बोलते है, जितना कमाओ उससे ज्यादा जेब से लग जाता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि हम स्टॉक की खरीदी उस समय करते है। जब वो या तो अपने उच्चतम स्तरपर होता है या फिर हम उस समय खरीद लेते है। जब वो अपनी रेंज के बाहर होता है। तो दोस्तों, आज हम आपके साथ कुछ ऐसे शेयर की चर्चा करेंगे, जो आपको एक से दो महीने के अंदर 15-20% तक का रिटर्न दे सकते है।

आगे बढ़ने से पहले सबसे पहले हम ये समझ लेते है कि स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है?

Top Swing Trading Stocks

1.DELTA CORP LIMITED (DELTACORP)

यह कंपनी एक गेमिंग कंपनी है, और साथ ही साथ एक हॉस्पिटैलिटी कॉर्पोरेशन भी है। जो की कई तरह के होटलो और कसीनो का संचालन करती है। साथ ही साथ यह भारत की एक मात्रा गेमिंग कंपनी है जो कैसिनो के व्यापर में लगी हुई है।
इस कम्पनी का शेयर आज 21.03.2022 को 312.75 रूपए पर बंद हुआ है, और इसका 52 वीक का उच्चतम 318.85 रूपए है जो की इसने आज ही बनाया है।
आज के दिन इस शेयर में 2,27,46,266 नंबर शेयर्स का वॉल्यूम देखने को मिला है,स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है और साथ ही साथ 41,88,459 शेयर्स पोसिशनल ट्रेडिंग के लिए खरीदे गए है, जो की अपने आप में एक अच्छी मात्रा है। इस शेयर को हम 350.00 रूपए के टारगेट तक के लिए खरीद सकते है।

2. SRF LIMITED (SRF)

Intraday Trading

intraday trading वह ट्रैडिंग होती है जो ट्रैडर उस ट्रैड को केवल एक दिन के ही लिए ले सकते है इसे intraday बोलते है आज कल बहुत से ट्रैडर interday खेल कर लाखों pese earn करते है

वो भी 1 दिन मे interday को खेलने के लिए किसी कंपनी के share को खरीद जाता है बो भी 9:15 am to 3:30 pm के लिए इसमे आपको समय दिया जाता 9:15 am से 3:30 pm तक जब आप को मुनाफा होता है तब आप अपने शेयर को बेच सकते है पर यह आपकी लिमिट केवल 1 दिन की होती है

इसमे रिस्क काम होता है scalping के अपेक्षा पर यह बहुत ज्यादा ट्रैडर इसको nifty या bank nifty मे खेलते है intraday अगर आप जानना चाहते है nifty kya है तो इस आर्टिकल को जरूर पड़े nifty 50

Swing Trading

Swing Trading यह अपने जरूर सुन होगा किसी ट्रैडर से तो चलो हम देखते है Swing Trading क्या होती है Swing Trading का मतलब शेयर मार्केट मे बार बार ट्रैड करते है 1 दिन मे दस बार कर सकते है यह ट्रैड करने मे रस्क बहुत काम होता है इसमे किसी कंपनी का फूँदमेंटेल देख कर किया जाता है इस ट्रैड को अपनाकर आप अच्छा pese earn कर सकते share मार्केट मे इसकी ऐक्यरसी बहुत अच्छी होती है और आप घर बैठे पेसे कमा सकते है

Positional Trading वह ट्रेड जो कुछ लॉंग टर्म के लिए होल्ड किए जाने बाली trading होती है । यह मार्केट का long term movement को कैप्चर करने के लिए किया जाता है। ताकि एक अच्छा मुनाफा हो सके। शेयर बाजार की रोजाना के up-down से इन पर जायदा असर नहीं होता है। यह बाकी सभी trading से कम रिस्की होता है

Stock Market fundamentals : Stock Market में पैसा कमाना हैं तो इन 5 ट्रेडिंग strategies के बारे में जरूर जाने

Types of trading in the stock market in hindi

Stock Market : ट्रेडिंग का मतलब सिक्टोरिटीज को खरीदना और बेचना होता है। ट्रेडिंग भी कई प्रकार की होती हैं। एक दिन से लेकर सालों के लंबे अंतराल के लिए भी ट्रेडिंग की जाती है। इसके साथ ही अलग-अलग बाजारों के माहौल और वहां मौजूद जोखिम से जुड़ी विभिन्न ट्रेडिंग रणनीतियां ( trading strategies) शेयरों में कारोबार करने के समय अपनाई जाती हैं। यहां पर हम कुछ ट्रेडिंग रणनीतियों पर चर्चा कर रहे हैं जो बाकी रणनीतियों में से सबसे ज्यादा लोकप्रिय हैं। ये रणनीतियां निवेशकों को तर्कसंगत निवेश निर्णय लेने में मदद कर सकती हैं।

रेटिंग: 4.15
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 764